Recents in Bollywood Movies

Yeh Rishtey Hain Pyaar Ke 27th July 2020 Written Episode


यह रिश्ते हैं प्यार के सीरियल की शुरुआत होती है, केतकी कहती है भाई हम सब जानते हैं कि आप इस घर में रहना ही नहीं चाहते हैं| पारुल कहती है ऐसा नहीं है जब तेरा जन्म होने वाला था तो दोनों भाइयों ने मन्नत मांगी थी तेरे लिए अबीर कहता है कि लेकिन उस दिन मुझे यह नहीं पता था कि एक दिन तुझे  विदा भी करना पड़ेगा | केतकी कहती है एक भाई मेरी शादी में नहीं आ सकता , अब दूसरा भाई मुझे विदा करने के डर से शादी में नहीं आना चाहता| कहीं ऐसा तो नहीं है आज आप यह सोच रहे होंगे कि आपने ऐसी मन्नत मांगी ही क्यों|   अबीर नाराज होता है कहता है कोई समझावे इससे ,  मां आप मुझसे कितनी भी नाराज रहो लेकिन इसको समझाओ | यह कैसी बातें कर रही है| मीनाक्षी कहती है आज सगाई है जो भी बातें होंगी सगाई के बाद| उनकी सगाई का फंक्शन खराब मत करो निधि | वरुण के घर फोन करके बोलो कि आज सगाई के लिए हम तैयार हैं| आज सगाई वाले दिन कोई भी ड्रामा नहीं होगा| कुहू  कहती है यह तो ठीक है लेकिन उसका क्या करें जो हर बार नया ड्रामा कर देती है और फंक्शन खराब कर देती है| अबीर कहता है किसी को चिंता करने की जरूरत नहीं है आज के फंक्शन में कोई गड़बड़ नहीं होगी |

मीनाक्षी कहती है जाओ जाकर सब लोग तैयारियां करो और सोचती है कि जब तक फंक्शन होगा सब लोग फंक्शन की तैयारी में बिजी होंगे तब तक मुझे और समय मिल जाएगा अबीर और मिस्टी का राज जानने के लिए| इधर वरुण की मां पर उनसे कहती है कि तुम तो जानते हो कि मैंने आज तक जो कुछ भी किया है अपने बेटे के लिए क्या है| करण की फोटो भी हमारे साथ जाएगी अगर करण होता तो बहुत खुश होता | मैं बहुत ही खुश हूं आज | वरुण कहता है मैं भी बहुत खुश हूं|  इधर सभी लोग सगाई की तैयारी में बिजी होते हैं| मिस्टी सभी से पूछती है कि क्या मैं कोई सहायता कर दूं लेकिन सब मना कर देते हैं| पारुल मौसी कहती हैं कि तुम मेरी कोई सहायता कर सकती हो क्या | मिस्टी कहती है हां बिल्कुल | मीनाक्षी दूसरे   फोन से वह नंबर लगाने की कोशिश करती है उसी समय अबीर वहाँ आता है और कहता है कि फंक्शन में सभी को गिफ्ट देने के लिए मैंने मंगवा लिए हैं नीचे रखे हैं, आप देख सकती हैं | मीनाक्षी कहती है तुमने मेरे लिए इतना कुछ किया | तुम घर छोड़कर मत जाओ बेटी विदा करने का समय है बेटा नहीं | अबीर कहता है ठीक है मैं नहीं जाऊंगा लेकिन आप मुझसे वादा कीजिए कि आप किसी भी छोटी छोटी बात के लिए मिस्टी को ब्लेम नहीं करेंगी| क्या हुआ आप इतना छोटा सा वादा नहीं कर सकती | आप तो बहुत बड़े बड़े वादे कर लेते हैं| मीनाक्षी कुछ नहीं कहती है |  अबीर वहां से चला जाता है| इधर मिस्टी अकेले परेशान होती है तो  अबीर उस पर गुलाब के फूल डालता है| मिस्टी को अपना पुराना टाइम याद आता है और वह  खुश होती है| उसी समय कौशल मामा वहां आकर मिस्टी को गुब्बारे देते हैं और कहते हैं कि यह  अबीर ने मंगवाए हैं| उसे देख कर खुश होती है| उसी समय निधि मामी की आवाज आती है कि किसी ने थाली गिरा दी| मिस्टी कहती है मैं जाकर देखो |

अबीर कहता है ठीक है जाओ | वह सोचता है दिन पर दिन मिस्टी के लिए परेशानियां बढ़ रही है| मुझे यहां से जल्द से जल्द जाना होगा | इधर वरुण अपने घर वालों के साथ राजवंश हाउस आ जाता है| मीनाक्षी कहती है गुड़ की थाल चाहिए, रस्म शुरू करनी है|  कुहू कहती है ठीक है मैं लेकर आती हूं|  पारुल मीनाक्षी को अपने साथ ले जाती है, पता चलता है कि गुड़ की थाल गिर गई| मीनाक्षी कहती है थाल गिर गई| कैसे हो गया, निधि कहती है सारे स्टाफ को एक-एक करके डाल दूंगी बस, यह सगाई हो जाए अच्छे से| मीनाक्षी कहती है जल्दी किसी को भेजकर गुड़ की थाल मंगवाई है, उसी समय मिस्टी वहां गुड़ की थाल लेकर आती है| सभी खुश हो जाते हैं| पारुल कहती है तुमने हमारी लाज बचा ली| मीनाक्षी कहती है यह मत भूलो पारुल आज जो इतनी जल्दबाजी में सगाई हो रही है, उसकी वजह भी मिस्टी है और फिर वहां से चली जाती है | पारुल कहती है मीनाक्षी की बातों का बुरा मत मानना , आज खुशी का दिन है| इधर रसम शुरू की जाती है, मीनाक्षी गिफ्ट वरुण को देती है और कहती है यह सारे गिफ्ट तुम्हारे हैं| निर्मला कहती है इन सब की क्या जरूरत थी , मीनाक्षी कहती है यह सब वरुण के लिए, हम सबका प्यार है| फिर भी अगर आपको कोई शिकायत है तो आप  अबीर से बात कर सकते हैं|  निर्मला कहती है   अबीर मुझे लगा नहीं था कि तुम अपनी फैमिली के इतना क्लोज हो| मुझे तो सुनने में आया था कि तुम घर छोड़कर जा रहे हो | अबीर कहता है मैं बस कुछ समय के लिए घर से दूर जा रहा हूं लेकिन घरवालों के दिलों से दूर नहीं जा रहा हूं| मैंने जो कुछ भी सीखा है मां से ही सीखा है, यह परंपरा मा न ही शुरू की कि शुभ मौके पर सभी को गिफ्ट दो | मीनाक्षी कहती है मेरा बेटा कविता लिखता है और खुद भी कविता जैसा ही है इसलिए कभी-कभी दुनिया को समझ में नहीं आता|

निर्मला कहती है कविता तो मुझे भी समझ में नहीं आती इसीलिए जो दिखता है उसी को सच मान लेती हूं और इस समय मुझे दिखाई दे रहा है कि एक भाई शादी छोड़कर जा रहा है| निर्मला अबीर से कहती हैं मुझे माफ करना तुम्हारी बीवी कितनी बीमार होगी जो तुम्हें ऐसे मौके पर घर छोड़कर जाना पड़ रहा है| उसी समय मिस्टी आती है| वरुण कहता है मैं तो आपका फैन हो गया हूं जो आपने मेरी  सगाई आज करा दी | आप मेरी फेवरेट की लिस्ट में आ गई है | पायल कहती है और सगाई की थाल भी  मिस्टी ने हीं सजाएँ है| मिस्टी कहती है नहीं तैयारियां तो हम सब ने मिलकर की है| मीनाक्षी मिस्टी और कुहू से कहती हैं कि जाओ केतकी को नीचे लेकर आओ| वरुण कहता है कि करण भैया होते तो बहुत खुश होते| मैं चाहता था कि वह भी हमारे साथ यहां आए | वरुण एक फोटो फ्रेम निकालता है जो कि करण की होती है और टेबल पर रख देता है| निधि कहती है यह तो आपने बहुत अच्छा किया | वरुण जो अपने भाई की फोटो ले आए| किसकी आ जाए फिर हम रस्म शुरू करें | अबीर सोचता है कि अगर मिस्टी ने वरुण की फोटो देख ली तो वह  खुद को संभाल नहीं पाएगी| मैं ना तो यह फोटो अपनी बहन की सगाई में बर्दाश्त कर सकता हूं और ना ही मिष्टी के लिए कोई रिस्क ले सकता हूं| मुझे यह फोटो यहां से हटानी होगी | मिस्टी भी आ रही होती है| अबीर उसी समय फैन ऑन कर देता है जिससे की तस्वीर नीचे गिर जाती है और टूट जाती है | मिस्टी पूछती है कि क्या हो गया क्या टूट गया | बताती हैं कि वरुण के भाई की फोटो गिर गई| अबीर कहता है मुझे माफ करना मुझे लगा गर्मी बहुत है पंखा ऑन करना चाहिए|  वह वरुण से पूछता है क्या मैं इसे गाड़ी में रख दूं| वरुण कहता है कोई बात नहीं मैं खुद रख दूंगा | अबीर कहता है मौसी किसी से कह कर साफ करा दीजिए| मिष्टि केतकी से कहती है तुम परेशान मत हो हवा से गिर गया था| केतकी कहती है अभी तो भाई सब कुछ संभाल लेंगे लेकिन बाद में तो मुझे छोड़कर चले जाएंगे|  कुहू कहती है तू चिंता मत कर मैं तेरे साथ हमेशा हूं|  मिस्टी थोड़ा परेशान होती है| अबीर बाहर वरुण से कहता है कि आज के दिन के लिए तुम अपने भाई की फोटो लाए थे और एक एक्सीडेंट  हुआ मुझे माफ कर देना|  वरुण कहता है वह एक्सीडेंट नहीं था जो हुआ आपने जानबूझकर किया, अबीर चौक जाता है।

 कल के एपिसोड में हम देखेंगे - निर्मला कह रही होती है कि आपकी बहू जिस घर से आई है, वह टूटा हुआ है, तो यहां आकर भी घर तोड़ेगी ना। अबीर कहता है मामी आपको मालूम है आज यह बातें क्यों हो रही है, क्योंकि सबको मालूम है कि अगर मिस्टी पर उंगली उठेगी तो इस घर से कोई कुछ नहीं कहेगा। निर्मला कहती हैं कि आपके बेटे ने मेरी बहुत बेज्जती की है, माफ कीजिएगा,  तैयारियां रोक दीजिए, यह शादी नहीं हो सकती। अबीर कहता है मिस्टी मैं तुम्हें इस घर में प्रोटेक्ट नहीं कर सकता, क्योंकि तुम जिस लड़के के परिवार को ढूंढ रही थी, उसी परिवार में केतकी का रिश्ता तय हुआ है।

Post a comment

0 Comments